मौसम और जलवायु में 10 प्रमुख अन्तर क्या हैं समझाएं| difference between weather and climate in hindi

Agriculture Studyy
0

किसी स्थान विशेष पर समय विशेष की अल्पकालीन वायुमंडलीय दिशाओं के योग को उस स्थान का मौसम (weather in hindi) कहते हैं, जबकि किसी स्थान या प्रदेश की दीर्घकालीन वायुमंडलीय दशाओं के औसत को जलवायु (climate in hindi) कहा जाता है ।

मौसम क्षण भर में ही बदल जाता है, जबकि जलवायु दीर्घकालीन "31वर्ष" को एक मानक माना जाता है ।

मौसम और जलवायु में अन्तर क्या हैं समझाएं? | difference between weather and climate in hindi


मौसम और जलवायु में अन्तर क्या हैं, difference between weather and climate in hindi, मौसम की परिभाषा, जलवायु किसे कहते है, मौसम और जलवायु के मुख्य कारक
मौसम और जलवायु में 10 प्रमुख अन्तर क्या हैं समझाएं


ये भी पढ़ें :-

मौसम की परिभाषा और प्रभावित करने वाले कारक 

मौसम की परिभाषा और प्रभावित करने वाले कारक
मौसम वायुमंडल के अंतर्गत होने वाला एक दैनिक परिवर्तन है जो वायुमंडल की निचली परत में होता है, इस प्रकार से मौसम किसी स्थान की वायुमंडलीय अल्पकालीन अवस्था है ।

मौसम (weather) एक अरबी भाषा का शब्द है ।

मौसम को हम निम्न प्रकार से भी परिभाषित कर सकते हैं -

"किसी स्थान विशेष या समय विशेष में पाई जाने वाली वायुमंडल की भौतिक अवस्था को मौसम कहते हैं।"

"The physically stage of the atmosphere at a given place and time is refered do as weather." - Palaniappan S.P

इस प्रकार से मौसम शब्द एक छोटे क्षेत्र जैसे किसी स्थान विशेष, गांव, शहर अथवा जिले के कुछ समय अथवा पूरे दिन की मौसम में परिवर्तन को दर्शाता है ।

जैसे हम कहते हैं, कि आज बड़ा गर्म दिन है, आज बड़ी ठंड है आदि ।

मौसम संबंधी उदाहरण निम्नलिखित है -

  • गर्म दिन
  • वर्षा का दिन
  • ठंडा दिन
  • भारी लू आदि का दिन ।

इस प्रकार मौसम को तापक्रम, सूर्य का प्रकाश, बादल, वर्षा, वायु आदि तत्व प्रभावित करते हैं यह सभी तत्व परिवर्तनशील होते हैं एक ही दिन में कई मौसम परिवर्तन हो जाते हैं ।

अर्थात, मौसम विभिन्न वायुमंडलीय अवस्थाओं का अल्पकालिक योग है जैसे तापक्रम वायुदाब आद्रता वर्षा आदि ।

मौसम को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारक -

जिन तत्वों के मिश्रण से मौसम की उत्पत्ति होती है उनमें निम्नलिखित तत्व अति महत्वपूर्ण है -

  • सौर विकिरण (Solar Radiation)
  • वायु का तापमान (Air Temperature)
  • वायु दाब (Air Pressure)
  • पवन (Winds)
  • आद्रता एवं वर्षण (Humoidity and Precipitation)
  • मेघो की मात्रा (Amount of Cloudiners)


ये भी पढ़ें :-


जलवायु किसे कहते है इसे प्रभावित करने वाले कारक

जलवायु मौसम का विस्तृत रूप है, जलवायु विस्तृत क्षेत्र की मौसम संबंधी घटनाओं की दीर्घकालीन औसत स्थिति को व्यक्त करता है ।

इस प्रकार से किसी प्रदेश, देश अथवा महाद्वीप से संबंधित लंबे समय तक की मौसमी घटनाओं का ब्यौरा जलवायु द्वारा व्यक्त होता है । इसकी अवधि महा वर्ष अथवा कई वर्षों तक हो सकती है यह अवधि दीर्घकालिक होती है ।

जलवायु (climate) यह एक ग्रीक भाषा का शब्द है यह दो शब्दों से मिलकर बना है जल + वायु आधार इससे वायुमंडल के संगठन का बोध होता है ।

जलवायु को हम निम्न प्रकार से भी परिभाषित कर सकते हैं -

"किसी स्थान या प्रदेश की तत्कालीन वायुमंडलीय दशाओं को जलवायु कहा जाता है जलवायु में परिवर्तन एक लंबी अवधि में ही हो सकता है।"

अतः जलवायु में वायुमंडलीय दशाओं के औसत का विशेष महत्व होता है अंतरराष्ट्रीय मौसम विज्ञान संस्थान है "31वर्षों" के मौसम का औसत उपयुक्त माना है ।

अंतरराष्ट्रीय मौसम विज्ञान संगठन (W.M.O) ने 31 वर्ष के मौसम संबंधित आंकड़ों को जलवायु के लिए आवश्यक बतलाया है शिव की जलवायु संबंधित आंकड़ों के लिए कम से कम 35 वर्षों के मौसमी घटकों के मध्यमान का उपयोग किया जाता है ।

वायुदाब, आद्रता, तापमान, वर्षा, वायु, बादलों का वेग एवं दिशा, आंधी, तूफान, विद्युत, कोहरा, बर्फ, ओला-पाला आदि सभी जलवायु के प्रमुख अंग होते हैं ।


जलवायु को प्रभावित करने वाले विभिन्न कारकों को समझाए

भूतल पर एक समान जलवायु दशाएं नहीं पाई जाती हैं।

यद्यपि सभी स्थान एवं प्रदेशों में जलवायु के कारक लगभग एक जैसे पाए जाते हैं, परंतु उनके प्रभाव की भिन्नता के कारण एक स्थान या प्रदेश से दूसरे स्थान या प्रदेश की जलवायु में पर्याप्त विभिनता ए पाई जाती है ।

इसीलिए जिन तत्वों के कारण मौसम अथवा जलवायु के तत्वों में प्रदेशिक एवं कालिक परिवर्तन होते हैं, उन्हें मौसम अथवा जलवायु के कारक अथवा नियंत्रक कहा जाता है ।

किसी स्थान अथवा प्रदेश की जलवायु को निम्नलिखित कारक प्रभावित करते हैं -

  • आकाशीय एवं देशांतरीय स्थिति (Position of Latitude and Longitude)
  • स्थल एवं जल का वितरण (Distribution of Land & Water)
  • समुद्र तल से ऊंचाई (Altitude from Sea level)
  • पर्वतीय अवरोध (Monutainous Barrier)
  • वायुदाब (Air Pressure)
  • वायु राशियां (Air Masses)
  • महासागरीय धाराएं (Oceanic Currents)
  • वायुमंडलीय विक्षोभ (Atmosphere Disturbances)

इस प्रकार स्पष्ट है, कि जलवायु के विभिन्न कारकों की जटिल क्रिया एवं प्रतिक्रिया के फल स्वरुप विभिन्न प्रकार की जलवायु दिशाएं उत्पन्न हो जाती है जो जनजीवन को व्यापक रूप से प्रभावित करती है ।


मौसम और जलवायु में 10 प्रमुख अंतर क्या है -

  • किसी स्थान पर विशेष समय की अल्पकालिक वायुमंडलीय दशाएं उस स्थान का मौसम कहलाती है, जबकि किसी स्थानीय प्रदेश की दीर्घकालिक वायुमंडल के दशक के औसत को जलवायु कहते हैं ।
  • मौसम अल्प समय में बदल जाता है जबकि जलवायु में परिवर्तन एक लंबी अवधि नहीं होता है ।
  • एक स्थान पर एक ही दिन में मौसम कई बार बदल सकता है अतः कई प्रकार का हो सकता है जब भी जलवायु किसी स्थानीय प्रदेश में एक ही प्रकार की होती है अतः बदलती नहीं है ।
  • मौसम अल्पकालिक होता है जब की जलवायु 31 वर्षों की वायुमंडलीय घटनाओं का औसत होती है आधार मौसम का औसत होती है ।
  • मानव जीवन पर मौसम का प्रभाव अल्पकाल के लिए होता है जबकि मानव जीवन पर जलवायु का प्रभाव दीर्घकालीन तक रहता है ।
  • मौसम का अध्ययन मौसम विज्ञान (Meterolog) के अंतर्गत किया जाता है जबकि जलवायु का अध्ययन जलवायु विज्ञान (Climatology) के अंतर्गत किया जाता है ।
  • मौसम में ही दिन में कई कई बार परिवर्तन हो जाता हैं जबकि जलवायु में ऐसा नहीं होता वह स्थिर रहती है ।
  • मौसम अस्थाई होता है जबकि जलवायु स्थाई होती हैं ।
  • मौसम वायुमंडल में होने वाला एक दैनिक परिवर्तन है जबकि जलवायु मौसम का ही एक विस्तृत रूप है ।
  • मौसम (weather) एक अरबी भाषा का शब्द है जबकि जलवायु (climate) एक ग्रीक भाषा का शब्द है ।

Post a Comment

0Comments

Please do not enter any spam link in the comment box.

Post a Comment (0)