सब्जियों का महत्व ( Importance of Vegetables in hindi )

हमारे जीवन में सब्जियों का महत्व ( Importance of Vegetables in hindi )


हमारे जीवन में सब्जियों का महत्व ( Importance of Vegetables in hindi )
हमारे जीवन में सब्जियों का महत्व ( Importance of Vegetables in hindi )


सब्जियों का महत्व ( Importance of Vegetables )


सब्जियों के फायदे -


सब्जियाँ संरक्षी तत्व, जैसे खनिज पदार्थ, नमक, विटामिन तथा अन्य रासायनिक पदार्थों का बाहुल्य स्रोत हैं, सब्जियों का मनुष्य के आहार में एक महत्त्वपूर्ण स्थान है ।

संतुलित आहार तथा अच्छे स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिये इनका होना आवश्यक है ।

माँस, पनीर तथा अन्य चर्बीयुक्त खाद्य पदार्थों के पाचन के समय उत्पन्न अम्लों को उदासीन करने के लिये भी इनका होना आवश्यक है ।

सब्जियों साथ ही साथ यह महत्त्वपूर्ण स्थूल खाद्य पदार्थ है, जो पाचन क्रिया को प्रोत्साहित करती है, कब्ज को रोकती है, और हाईट को बढाने में आदि।

सब्जियों का हमारे जीवन मे क्या महत्व है?


सब्जियों से हमें कार्बोहाइड्रेट, चर्बी, प्रोटीन, विटामिन तथा खनिज पदार्थ प्राप्त होते हैं, जोकि शरीर के लिये आवश्यक हैं ।

सब्जियों को समुचित रूप में तथा नित्य प्रति प्रयोग करने से हमारी त्वचा स्वच्छ एवं मुलायम तथा आँखें चमकीली होती हैं ।

सब्जियों में पोषक पाए जाने वाले तत्व


आहार मूल्य के दृष्टिकोण से ये सब्जियाँ निम्नलिखित रूप में महत्त्वपूर्ण हैं -


( A ) खनिज पदार्थ ( Minerals )


शरीर की वृद्धि एवं विकास के लिये लगभग 10 से अधिक खनिज पदार्थों की आवश्यकता होती है ।

इन खनिज पदार्थों में कैल्शियम, लोहा, फॉस्फोरस की आवश्यकता अधिक मात्रा में होती है जोकि उचित मात्रा में सब्जियों के अलावा अन्य खाद्य पदार्थों में उपस्थित नहीं होते ।

इन तीनों के अतिरिक्त आयोडीन एवं सोडियम की भी प्राप्ति होती है । इनकी मात्रा कम होने पर भी ये मनुष्य के स्वास्थ्य को बनाये रखने में सहायक होती हैं ।

खनिज पदार्थों की उपस्थिति के कारण ही सब्जियों को दूध की तरह संरक्षी खाद्य पदार्थ ( Protective food ) कहा जाता है ।

इस प्रकार शाकाहारी भोजन में इनका विशेष महत्व है ।

( i ) कैल्शियम ( Calcium )  -


संक्रामक अवरोध तथा स्वास्थ्य हड्डियों के लिये इसकी आवश्यकता होती है ।

इसकी कमी से बच्चों में Rickets तथा Pigeon Chest की बीमारी, बच्चों की वृद्धि रुकना, दाँत खराब हो जाना, बच्चों के जन्म में कठिनाई होती है ।

यह सेम, पत्तागोभी, गाजर, सलाद प्याज, पालक, मटर एवं टमाटर इत्यादि में उपलब्ध होता है ।

( ii ) लोहा ( Iron ) -


सब्जियाँ फलों की अपेक्षा लोहे का एक अच्छा स्रोत है । हरी पत्तियों वाली सब्जियों में लोहे की अधिक मात्रा होती है ।

लोहा RBC का एक आवश्यक भाग है तथा यह शरीर के अंदर ऑक्सीजन वाहक का काम करता है ।

यह पालक, सलाद, पत्तागोभी, मटर, सेम और टमाटर इत्यादि से प्राप्त किया जा सकता है ।

( iii ) फॉस्फोरस ( Phosphorus ) -


यह शरीर की सभी कार्यशील ऊतकों के लिये आवश्यक है । यह हड्डियों तथा मुलायम ऊतकों के गुणांक के लिये आवश्यक है ।

यह ऊतकों में उचित द्रव्य पदार्थ के बनाये रखने में सहायक होता है ।

इसका मुख्य कार्य कार्बोहाइड्रेट के ऑक्सीकरण में होता है जिससे ऊर्जा उत्पन्न होती है ।

यह आलू, गाजर, टमाटर, पालक, कद्दू, फूलगोभी तथा सलाद इत्यादि में उपलब्ध रहता है ।

( B ) विटामिन ( Vitamin )


सब्जियों के अन्दर निम्नलिखित विटामिन्स पाये जाते है -


( i ) विटामिन 'ए' ( Vitamin A ) —


यह गाजर, मटर, शलजम, टमाटर, चुकन्दर, पालक, मैथी, हरी मिर्च, सलाद तथा पत्तागोभी से प्राप्त किया जा सकता है ।

( ii ) विटामिन 'बी' ( Vitamin 'B' 2 )


इसको Thiamine भी कहते हैं । यह सलाद, पत्तागोभी, मटर, हरी मिर्च, गाजर तथा प्याज से प्राप्त की जा सकती है ।

( iii ) विटामिन 'सी' ( Vitamin 'C' ) or Ascorbic Acid  -


यह मैथी, पालक, सलाद, पातगोभी, टमाटर, हरी, मिर्च, आलू एवं शकरकंद के अन्दर अधिक मात्रा में पाई जाती है ।

( iv ) विटामिन 'डी' ( Vitamin 'D' ) -


मजबूत हड़ियों एवं स्वस्थ दाँतों की बनावट के लिये यह आवश्यक है । यह कैल्सीफिकेसन में सहायता पहुँचाता है । यह हरी सब्जियों में उपलब्ध रहता है ।

( v ) विटामिन 'ई' ( Vitamin 'E' ) -


यह प्रजनन कार्य के लिये बहुत ही आवश्यक है । यह पत्तागोभी, सलाद और वानस्पतिक तेलों से प्राप्त की जा सकती है ।

( vi ) विटामिन जी ( बी ) या रीबोफ्लेविन —


यह वृद्धि को प्रोत्साहित करने वाली पानी में घुलनशील विटामिन है ।

यह वृद्धि एवं स्वस्थ त्वचा के लिये भी आवश्यक होती है । इसकी उपलब्धि हरी सब्जियों से अधिक होती है ।

( C ) अमीनो अम्ल ( Amino Acids ) -


यह मनुष्य की वृद्धि एवं विकास के लिये बहुत ही आवश्यक है ।

हरी सब्जियों के महत्व एव फायदे  ( Importance of Vegetable in hindi )


( D ) कार्बोहाइड्रेट ( Carbohydrates ) —


कुछ सब्जियों जैसे - शकरकन्द, आलू, मटर तथा सेम के शुष्क बीज शक्तिदायक खाद्य पदार्थ अथवा कैलोरीज के महत्वपूर्ण साधन हैं ।

रसीली जड़ें, कन्द  प्रकन्द में कार्बोहाइड्रेट की प्रचुर मात्रा पाई जाती है ।

( E ) सब्जियाँ स्थूल खाद्य के साधन हैं ( Vegetables are Sources of Roughage ) -


स्थूल खाद्य पाचन क्रिया में सहायक होता है तथा कब्ज को रोकता है । यह पालक, सलाद, पत्तागोभी इत्यादि में अधिकता से पाया जाता है ।

( F ) सब्जियाँ प्रोटीन को दुरुस्त करती हैं ( Vegetables to offset Proteins ) -


सब्जिया प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ  जैसे - माँस, अण्डे के हानिकारक प्रभाव, जो शरीर के अन्दर क्षारीय माध्यम को बिगाड़ देते हैं, को अपने प्रभाव द्वारा ठीक रखती हैं ।

( G ) वानस्पतिक दूध ( Vegetable Milk ) -


( 1 ) सब्जियों से दूध भी प्राप्त किया जा सकता है लेकिन अभी यह कार्य केवल ग्रेट ब्रिटेन में होता है 

( 2 ) प्रति हैक्टर सब्जियों की पैदावार अधिक होती है । ( Per hectare yield of vegetable is very high )

( 3 ) शुद्ध लाभ प्रति इकाई क्षेत्रफल अधिक होता है ( Net return per unit area is high )

सब्जियों के गुण


( 4 ) सब्जियों का सौंदर्य शास्त्र मूल्य ( Aesthetic value of Vegetable )


( 5 ) एक वर्ष में सब्जियों की कई फसलें ली जा सकती हैं ( More number of vegetable crops can be raised in one year )

जैसे - 


1. Bhindi Pea - Palak - Tomato 

2. Tainda - Potato - Radish - Lauki .

( 6 ) फार्म युक्तियों का उपयोग ( Utilization of farm resources )

( 7 ) औद्योगिक महत्व ( Industrial value )


( 8 ) औषधि महत्व ( Medicinal importance )



Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post